Skip to main content

Posts

Showing posts from November, 2016

"पलकें चमकने लगी हैं, अब ख्वाब कैसे छुपाऊं.."

आंखें भरनी हैं तो सपनों से भरो, आंसुओं से नहीं..क्योंकि आंसू तो छलक जाएंगे लेकिन सपने दूर फलक तक ले जाएंगे..इसलिए जब भी दिल में कोई टीस उठे, एक सपना पलकों पे सजे.. +anshupriya prasad

ये मेरा आसमां है..

आंसुओं को सजाओ, संवारो और मुस्कुराहट के मोतियों में बदल दो..गमों को झाड़, पोंछकर भूली-बिसरी यादों के संदूक में बंद कर दो..और दर्द से कह दो कि वो अपनी हद में रहे..क्योंकि ये मेरी ज़मी है, जहां मुझे चलना है..ये मेरा आसमां है, जहां मुझे उड़ना है..यहां मैं हूं और मेरे अपने हैं..मेरी इस छोटी सी दुनिया में दुख-दर्द का क्या काम..मुझे तो हर हाल में मुस्कुराना है अपने लिए..अपनों के लिए.. +anshupriya prasad

अपनी कीमत साबित कर..

जब दिल टूटता है तो इंसान कुछ बन जाता है..ठोकरें, चलना सिखा देती हैं..और मुश्किलें, पहाड़ जैसा मजबूत बना देती हैं..क्योंकि जबतक हीरे की परख नहीं होगी..उसकी कीमत कैसे पता चलेगी..वैसे भी बेशकीमती वही साबित होगा..जो ज़िंदगी की कसौटी पर खरा उतरेगा..और जिन्हे ज़िंदगी परखेगी नहीं..उन्हें तो कोई कौड़ियों के मोल भी नहीं पूछेगा.. +anshupriya prasad

Love knows it's way

मोहब्बत का दर्द जब हद से गुज़रने लगता है तो इबादत बन जाता है..सच्चे इश्क की तासीर ही कुछ ऐसी है कि दिल से निकली हर आह, दुआ बन जाती है..प्रेमी मिले चाहें ना मिलें..रहते, हमेशा साथ हैं..कहते हैं मीरा ने इतने प्यार से कान्हा को देखा कि मीरा, कान्हामय और कान्हा, मीरामय हो गए.. +anshupriya prasad

जो मिला है उसकी कदर करना सीखो..

इस दुनिया में कोई भी ऐसा नहीं है जिसे नेमतों (Blessings) से ना बख्शा गया हो..लेकिन अगर फिर भी किसी को ऐसा लगता है कि ज़िंदगी ने मुझे कुछ भी नहीं दिया..तो वो सिर्फ दिल से ही नहीं दिमाग से भी गरीब है..क्योंकि जो हमें मिला है उसे झुठलाया नहीं जा सकता..बहुतों के पास तो उतना भी नहीं होता..लेकिन फिर भी वो ज़िंदगी जीने का हौसला रखते हैं..सच तो ये है कि शुक्रगुज़ार बने बिना बेहतरी की राह पर चलना मुमकिन नहीं..जो मिला है उसकी कदर करना सीखो..क्योंकि यही हमारी ताकत है..इसी से हमें हिम्मत मिलती है..और बिना हिम्मत के सपनों के सफ़र तय नहीं किए जाते.. +anshupriya prasad