Skip to main content

Posts

Showing posts from November, 2015

Forever Young

जब तक अरमानों में आसमानों में उड़ने की चाहत है तब तक आप young हैं...जब तक आपके इरादे मजबूत हैं तब तक आप young हैं...क्योंकि दुनिया हौसलों से चलती है ताकत से नहीं...जो भी करो 100% करो...उसे अपनी ज़िंदगी बना लो...लेकिन अगर फिर भी ना मिले तो दिल पर कोई बोझ ना लो...क्योंकि मेहनत के बाद ही जीत है... 

Leave Self Pity

किसी ने गिरेबान पकड़कर आतंकवादी नहीं कहा लेकिन फिर भी आंख से आंसू टपकने लगे...किसी ने नाम लेकर गद्दार नहीं बुलाया लेकिन फिर भी गुस्से में खुद को ही कहने लगे...अगर किसी एक सिरफिरे ने ज़हर उगल दिया तो सबको पराया कर दिया...अपने सीने में इतना दर्द और तिरस्कार लेकर क्यों घूम रहे हो भाई...जो हो गया उसमें कब तक जियोगे और जो हुआ नहीं उससे कब तक डरोगे...ऐसी कौनसी सरकार है जिसमें इतनी हिम्मत है कि वो अल्पसंख्यकों को उनके अधिकारों से वंचित रख सके...और ये कौनसी किताब में लिखा है कि हिन्दू सिर्फ हिन्दुओं को और मुसलमान सिर्फ मुसलमानों को ही सही मानें...21वीं सदी है...ठोक-बजाकर तौलो और जो सही लगे उसकी बात मानो...हमारा दुश्मन कोई धर्म और पार्टी नहीं बल्कि गरीबी है...और गरीबी भगाने का एक ही तरीका है पढ़ाई-लिखाई...जितना हम पढ़ेंगे समाज में उतनी ही हमारी इज्ज़त और ताकत बढ़ेगी...इसलिए Self Pity छोड़ो और आगे बढ़ने की कोशिश करो...क्योंकि ये ज़िंदगी नफ़रत के लिए बहुत छोटी है...

गौर से देखो

दो जासूस करें महसूस कि दुनिया बड़ी ख़राब है...

गुलाबी दुनिया

गुलाल के इन रंगों की तरह तुमने मेरी ज़िंदगी में कितने रंग भर दिए हैं...

नन्ही दुनियादारी

इतनी बड़ी दुनिया और मैं इतनी छोटी?

Let's Unite

इंडिया में रहने वाले हिन्दुओं और मुसलमानों को ये अच्छी तरह से समझ लेना चाहिए कि उन्हे और उनकी आने वाली पीढ़ियों को यहीं रहना है एक साथ..हमेशा-हमेशा के लिए..हमारे लिए किसी भी और देश के दरवाजे खुले नहीं हैं..क्योंकि हम नर्म दिल और देश से प्यार करने वाले इंसान हैं..कट्टर नहीं..लेकिन फिर भी जब कोई सेलिब्रिटी, नेता या चरमपंथी अपने फायदे के लिए लोगों को धर्म के नाम पर बरगलाता है तो उसे सबक सिखाने की बजाए..हम आपस में ही लड़ने लगते हैं..सोशल मीडिया पर गालियों और ज़हरीले शब्दों का अंबार लग जाता है..हमारे देश में डर का माहौल है नहीं उसे बनाया जा रहा है..अल्पसंख्यकों को डराओ और वोट लूटो की राजनीति में हम क्यों फंसे..अपने ही देश में हम क्यों एक-दूसरे से डर के रहें...अगर सरकार देश की योजनाओं और नीतियों में धर्म के आधार पर भेदभाव करे तो उसका जमकर विरोध करें...लेकिन उससे पहले नहीं..समय की मांग है कि कंधे से कंधा मिलाकर देश को मजबूत बनाया जाए..वर्ना अमेरिका और चीन जैसे देश तो तैयार ही बैठे हैं हमारे अंदर की फूट का फायदा उठाने के लिए..तब देश की दुर्दशा सीरिया या अफगानिस्तान जैसी हो जाएग…

Listen Aamir Khan

आमिर ख़ान जैसे सेलिब्रिटी को कबसे हिन्दुस्तान में रहने में ख़तरा महसूस होने लगा..क्या नहीं दिया इस देश ने उन्हे..नाम, पैसा, इज्ज़त, शोहरत सबकुछ..ना सिर्फ आमिर को बल्कि उनके पिता, दादा, पड़दादा..सबको इस देश के लोगों ने गले से लगाया..और बेशुमार दौलत से नवाज़ा..आमिर का बाल-बांका भी ना हो इसके लिए भारतीय पुलिस उन्हे दिन-रात सुरक्षा कवर देती है..लगता है फिल्मों और सत्यमेव जयते जैसे टीवी शो में एक्टिंग करते-करते आमिर अब असली ज़िंदगी में भी लोगों की भावनाओं से खिलवाड़ करने लगे हैं...ख़ान साहब, अगर आपको लाइमलाइट में बने रहना है तो काम कीजिए...ड्रामा नहीं...वर्ना जिन लोगों ने आपको सिर-आंखों पर बैठाया है उन्हे आपको गिराने में ज़रा भी देर नहीं लगेगी...

Father's emotions

जब तुम हंसती हो तो मैं हंसता हूं..
                                                 जब तुम रोती हो तो मैं रोता हूं..
                                                 ये कैसा रिश्ता है..ये कैसा नाता है..
                                                 अब मैं सिर्फ तुम्हारे लिए जीता हूं..

तेरी याद साथ है

तेरे सज़दे में झुकती रहीं मेरी निग़ाहें
                                             जो तेरी याद आती है तो बांहें फैल जाती हैं..

सेल्फ़ी ले ले रे..

Selfie Queen

Wake up and Live Happily

दूसरा जन्म मिले या ना मिले...मरने के बाद स्वर्ग में जाएं या नर्क में...लेकिन एक बात तो तय है कि हर हाल में इस ज़िंदगी को खुशनुमा बनाना है...अपना हो या बेगाना...किसी को भी इतना अधिकार मत दो कि वो हमें दुखी कर सके...क्योंकि कोई हमें तभी तक परेशान कर सकता है जब तक हम परेशान होना चाहते हैं...यकीन मानिए जिस दिन से हम ये ठान लेंगे कि हमें ज़िंदगी का हर इम्तेहान मुस्कुराते हुए पास करना है..उस दिन से हमें खुश रहने से दुनिया की कोई भी ताकत रोक नहीं पाएगी...

बजरंगी पंडित

ये 10 किलो का गदा देख रहे हो..
                                                      पड़ेगा तो आदमी उठेगा नहीं..
                                                      उठ जाएगा..
                                                      जय जय बजरंग बली..

Human butterfly

उड़ने की चाह है लेकिन पंख थोड़े छोटे हैं...

Unconditional Love

मन करता है कि तुम्हे कंधे पर बिठाऊं
गांव ले जाऊं और गांव के पास लगने वाला मेला
तुम्हे घूम-घूम कर घुमाऊं
खिलौने दिलाऊं और तुम्हारे साथ खुद खेलूं
कभी हाथी बन जाऊं, कभी घोड़ा, कभी ऊंट
तुम्हे अपनी पीठ पर बिठा कर
दुनिया जहान दिखाऊं
तुम्हे गुदगुदाऊं, तुम खिलखिलाओ
और मैं खेत में खड़ी किसी फसल सा जी भर मुस्कराऊं

ये कैसा रिश्ता?

पहले कभी तुझे देखा नहीं..कभी मिला नहीं..ना कोई रिश्ता, ना नाता...फिर भी ना जाने क्यों तू लगे मुझे अपना सा...

Dabangg in Office

काम की अफ़रा-तफ़री के बीच, फ़ुर्सत के दो पल...दबंग स्टाइल

Do you believe in Angels?

एक गुमनाम परी

कुछ सालों पहले रामलीला मैदान से खरीदा था मुकुट, धनुष, परी की छड़ी..परी बनकर भी गुमनाम हूं मैं...मेरी डायरी एक बिखरा पन्ना आपकी नज़र कर रही हूं...

ये जो Facebook ID है न?
ये कोई पहचान नहीं मेरी,
बस एक मकां है, फ़क़त,
गुमनामियों का एक मकाँ...
जिसकी खिड़की पे बैठ कर
मैं, लिखती रहती हूँ तुम्हारे नाम कई कई खत ...
और छोड़ देती हूँ ...इस अजनबी मोहल्ले में ...
कि कभी आओ अगर इस गली,
तो पढ़ना इन खतों को...
मेरी आँखों की तरह,
इनमें भी अपना ही अक्स पाओगे...

मेरे पास,
तुम्हारा पता तो नहीं... मगर....
अपने निशां ज़रूर बचा रखे हैं...
मैंने तुम्हारे लिए...


When Life asks Questions

फिर एक नयी सुबह...फिर ज़िंदगी का नया टारगेट..फिर भी मन में एक कसक कि आखिर अभी तक कितना जी पाई हूं...या बस सलटी है ज़िंदगी, जैसे तैसे....

Emotions behind the beef protest

गाय हमेशा से ही परिवार की आय और सेहत का जरिया रही है..बुरे से बुरे हालात में भी अगर घर में गाय है तो बच्चों को कम से कम दो वक्त का दूध तो नसीब हो जाता है...अगर गाय को अपने बच्चे की तरह पाला जाए तो वो भी परिवार का हिस्सा बन जाती है...घरवालों के दुख-तकलीफ़ में उसे भी आंसू बहाते देखा गया है...और इंसानों जैसे इमोशन वाले किसी भी जीव-जंतु को मारना किसी मनुष्य की हत्या करने के बराबर माना जाता है...इसलिए हिन्दुओं में गौ-दान की परंपरा है गौ-हत्या की नहीं...

Best Friend

ये मेरा सबसे अच्छा दोस्त है...बिना कहे ही ये मेरी सारी बातें समझ जाता है...

For the Sake of Democracy

जो भी सरकार हम चुनते हैं उसे कम से कम 4 से 4.5 साल तक काम करने देना चाहिए...फिर चाहें वो मोदी हों, केजरीवाल हों या लालू और नीतीश...केंद्र और राज्य सरकार का विरोध करने या उसे बीच में ही गिरा देने से सिर्फ विरोधी पार्टियों का फायदा होता है...आम आदमी को तो सिर्फ नौकरी, बिजली, पानी, सड़क, स्कूल, अस्पताल और शांति से मतलब है...सरकार को काम करने पर मजबूर करें...अपनी साख बचाने के लिए नहीं...अगर सरकार फिर भी अपने वादे पूरे नहीं करे तो फिर 4 साल बाद सबकी ऐसी धुलाई करें कि उनका राजनीति से हमेशा-हमेशा के लिए सफाया हो जाए...

Naughty Kids

जब भी ये दोनों बदमाशी करते हैं इन्हे घर की सबसे ऊंची जगह पर बैठा दिया जाता है...लेकिन इसके बाद ऐसा हंगामा मचता है कि पूछो मत...

Do it Now

एक दिन चमत्कार होगा और हमारी किस्मत बदल जाएगी...अगर हम ऐसा सोचते रहेंगे तो पूरी ज़िंदगी बीत जाएगी और वो दिन कभी नहीं आएगा...इसलिए हम जहां हैं..जैसे भी हालात में हैं...वहीं से एक नई शुरुआत करें...बुरे से बुरे हालात में भी अगर हम टूटे नहीं...भरोसा बनाए रखें और खुश रहना शुरू कर दें...तो किस्मत अपने आप ही बदलने लगेगी...क्योंकि किस्मत भी उन्ही का साथ देती है जो अपनी मदद खुद करते हैं...

Let's make Life Better

Life is a dream but it is true in our experience. Let's change it the way we want it. Why feel trapped in a bad dream..when we can have a nice one.