Skip to main content

Posts

Showing posts from December, 2016

उजाले तेरी यादों के..

चलो अच्छा हुआ कि अब धुंध पड़ने लगी,
बहुत दूर तक तकती थीं निगाहें मेरी, तेरी राहों को..

फिर से जी लो सत्रहवां साल..

खिली-खिली सी तबीयत और दिल मे जोशीला तूफान लेकर आया है सत्रहवां साल..यानी 2017..एक, दो नहीं..पूरे बीस सवेरों की रोशनी लिए..हैप्पी वाले इस न्यू इयर ने सबको मौका दिया है उम्र का सबसे हसीन साल एक बार फिर से जीने का..तो अब नादानियों में समझदारी के जुगनू झिलमिलाने दो..और पहले से भी ज्यादा जोश और उमंग के साथ तैयार हो जाओ सत्रहवां साल जीने के लिए..Wishing you a Magical New Year 2017.. May all your Wishes come True.. +anshupriya prasad

लिख दो नई तकदीर..

इस दुनिया के मुकाबले हम एक ज़र्रा (particle) या एक बिंदु भी नहीं हैं..और अगर ये ज़र्रा अपनी किस्मत से ज्यादा पाने की हसरत रखे तो सोचो उसे कितनी मेहनत करनी पड़ेगी..अगर सचमुच कुछ पाना चाहते हो तो अपना तन-मन सपनों की आग में झोंक दो..और इतना तपो कि सूरज की आंच भी फीकी पड़ जाए..जब एक ज़र्रे में इतनी अगन होगी तो पूरी कायनात पिघल कर मजबूर हो जाएगी एक नई तकदीर लिखने के लिए.. +anshupriya prasad

Love Unconditionally

Love doesn't come with an Expiry date..If your Loved ones can make you angry or miserable..that means you have never truly Loved them..Whether you get anything in return or not..Love is Pure and Eternal..Try to Love Unconditionally and Wholeheartedly..So Smile and open your heart to the most Miraculous and Empowering emotion..Love..Stay there..Always.. +anshupriya prasad